पी .वी.सिंधु ने फिर से देश का नाम ऊँचा किया |

0
97

भारत की पहली विश्व चैंपियन बनाने का सपना पी.वी. सिंधु का फाइनल में नोज़ोमी ओखुहरा के खिलाफ एक कड़े मुकाबले में हरने के बाद टूट गया |

एक कड़े  फाइनल मुकाबले  में, दोनों खिलाड़ियों ने  शारीरिक और मानसिक ताकत का परीक्षण किया , सिंधु एक घंटा और 49 मिनट के लिए मुश्किल से जूझते हुए 1 9 -21, 22-20, 20-22 से हार गई |

फिर भी, सिंधु ने एक सच्चे चैंपियन की तरह लड़ी और अपने आप से वादा की की  वह अपने पदक का रंग बदलने के लिए प्रयास करेगी, जिन्होंने पिछले संस्करणों से दो कांस्य जीती थी । यदि वह यह मुकाबला जीतती तो देश की पहली विश्व चैंपियन होती |भारत के लिए, यह अभी भी एक ऐतिहासिक संस्करण था क्योंकि पहली बार देश के शटलर दो पदक के साथ लौट रहे हैं।साइना नेहवाल ने सेमीफाइनल में हार के बाद कल कांस्य पदक जीता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here