इश्क में बस तुम से आंखें चार करेंगे

0
149
इश्क में बस तुम से आंखें चार करेंगे,
तुम पर ही जान ये जान निसार करेंगे ,

चुपके से कानों में आकर इज़हार करेंगे ,
फूलों की तरह यार तुझे प्यार करेंगे ,

चुन लेंगे कांटे सारे तुम्हारे गुलशन के,
खुशियों से तेरा दामन गुलज़ार करेंगे ,

तू कह कर तो देख कोई झूठ भी हम से,
आंखें बंद करके तुम्हारा ऐतबार करेंगे,

हाथ पकड़ कर ना छोड़ेंगे फिर तेरा ,
हर मुश्किल को साथ-साथ पार करेंगे

ख़फा होकर बस ना जाना दूर हम से ,
बिखर जाएंगे खुद को ज़ार ज़ार करेंगे ,

फूलों की तरह यार तुझे प्यार करेंगे ,
बस यही हर बार कहेंगे बस प्यार करेंगे,

एक बात जो तू कह दे आऊंगा मिलने,
मरने तक भी हम तेरा इंतजार करेंगे।।

गरिमा खरे  (विजेता)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here