रोहिंग्या मुसलमानों का अवैध प्रवास

     रोहिंग्या मुसलमानों का अवैध प्रवास

225
9
SHARE

 

आज की राजनीति के परिदृश्य में यदि बात की जाए तो भारत में अवैध रूप से रह रहे 40 हजार रोहिंग्या मुसलमान  चर्चा का केंद्र बिंदु है | रोहिंग्या मुसलमानों को भगाने के लिए जहा केंद्र सरकार ठोस कदम उठा रही है , वही भारत में कुछ बुद्धिजीवी ऐसे भी है जो रोहिंग्याओ के  यहाँ रहने का समर्थन भी कर रहे है | और इन बुद्धिजीवियों को विपक्ष का व्यापक समर्थन प्राप्त है , कितना आश्चर्य होता है ये देख कर की जिस देश ने इन रोहिंग्या मुसलमानों को आतंकवादी बोल कर निकला है , हम उन्हें पनाह देने जा रहे है | कोई भी देश अपनी समस्याओ का समाधान करता है , पर यहाँ कुछ बुद्धिजीवी दुसरो की समस्या भी अपने सर पर लेने को राजी है | ममता बनर्जी , कांग्रेस्सियो , वामपंथियों तथा कुछ मुस्लिम नेताओ और मौलानाओ के द्वारा जिस प्रकार रोहिंग्याओ का समर्थन किया जा रहा है , वह हैरान करने वाला है , कोई तुस्टीकरण की राजनीति में इतना कैसे गिर सकता है की देश की सुरक्षा से ही खिलवाड़ करने लग जाये | म्यांमार से भगाए गये इन रोहिंग्याओ पर ये कार्यवाही बिना वजह नही हुई है , म्यांमार एक बौद्ध धर्म  को मानने वाला राष्ट्र है , और बौद्ध धर्म को शांति का मजहब माना जाता है |  फिर ये विचार करने लायक बात है की  आखिर ऐसी  नौबत क्यों आई की म्यांमार से रोहिंग्याओ को भागना पड़ा , उसका कारण है वह बड़ी संख्या में रोहिंग्याओ का आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त होना | रोहिंग्या मुसलमान म्यांमार की सुरक्षा के लिए खतरा बन रहे थे तो उन्होंने सक्त निर्णय लेते हुए इन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया | किसी भी मुस्लिम देश ने इन रोहिंग्याओ को  पनाह देने से इनकार कर दिया है , यहाँ तक की म्यांमार के पडोशी बांग्लादेश तक ने इन्हें शरण देने से साफ़ मना कर दिया | तो हम क्यों अपनी सुरक्षा से खिलवाड़ करे  | भारत में रह रहे इन रोहिंग्याओ में से भी अब तक  12 रोहिंग्याओ को आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त पाया गया है | फिर भी विपक्षियो की आँखे नही खुल रही है | अगर  विपक्षियो को लगता है इन कदम से देश के अल्पसंख्यको का वोट उसे मिल जायेगा , तो उन्हें मनमोहन सिंह के उस बयान को याद कर लेना चाहिए जिसमे उन्होंने कहा था – भारतीय संसाधनों पे पहला अधिकार मुसलमानों का है | और उसके बाद कांग्रेस की क्या दुर्गति हुई थी हम सबने देखा है | यदि विपक्ष रोहिंग्याओ की मदद करना चाहता है  तो उन्हें सहायता राशि  दी जाने की मांग करनी चाहिए  , उनकी  सहायता भी हो जाएगी और हमारा राष्ट्र  भी सुरक्षित रहेगा |

 

मुख्य संपादक

9 COMMENTS

  1. These rohingyas entered India illigaly without any permit from UN
    And these people could be menace to our nation
    So A BIG NO from my side,nation security first

    Bc political attention gain krney k liye apne
    Kuch log apni Marwa rhey hein
    Bcdon ko bolo ki itna hi humanity hey na
    Keep two of the rohingya at their place(ghar,)

    Aur Jo country bol rhi hey India shouldn’t deport these
    People
    I suggest them y don’t they
    Keep these people in there country
    We will provide a free shipment of these people

  2. Theartical is nicely written, it explains actually it could make you confused too about your concept for righteous politics..
    How our some of the politicians still do the vote bank politics on the rohingya crisis.
    Rohingya is clearly a security threat because of its connection with terrorism. If we really want to support them then get them financial help from UNO.. Nothing more should be done for rohingya from our side.

  3. Koi bhi prasasan se bada nhi hota gov is first power modi Ji bahumat me hai vo is visaya par Ku nhi sochte , vaise chunav ke samay to ghanto bhasad dete hai is par kuch to bolo Aur bolo hi Ku action bhi lo

  4. Koi bhi prasasan se bada nhi , gov is first power modi Ji is samay bhumat me hai vo is visay par Ku nhi bolte vaise chunav ke samay to ghanto bhasad chalta hai , phir ek aisa visay jisme des ki suraksha khatre me ho Ku nhi bolte , koi action Ku nhi lete kis bat ka intjar hai unhe 2019 ka

  5. Koi bhi prasasan se bada nhi , gov is first power modi Ji is samay bhumat me hai vo is visay par Ku nhi bolte vaise chunav ke samay to ghanto bhasad chalta hai , phir ek aisa visay jisme des ki suraksha khatre me ho Ku nhi bolte , koi action Ku nhi lete , kis bat ka intjar hai unhe 2019 ke chunav ka

  6. देश में इतने मुसलमान ह अगर थोड़े मुसलमान और आ गए तो देश खत्म थोड़ी ही हो जाएगा इंसान बुरा नहीं होता इंसान के अंदर की बुराई बुरी होती हैं

LEAVE A REPLY