Saturday, December 16, 2017
Home Tags LONG LIVE BHAGATSINGH

Tag: LONG LIVE BHAGATSINGH

आज़माना हो अगर तो आज़माकर देखिये।

दिल्लगी ही दिल्लगी है दिल लगाकर देखिये , आज़माना हो अगर तो आज़माकर देखिये। दिल किसी पर है फिदा नज़रें किसी पर हैं टिकी, इश्क़ है सच्चा...

जिनका क्षर होवै नहीं,अक्षर वो कहलाय

जिनका क्षर होवै नहीं,अक्षर वो कहलाय। अक्षर-अक्षर जोड़कर,शब्द कई बन जाय।। शब्द बहुत छोटे दिखे,प्रबल करें पर मार। धूप - छाँव,सुख - दुख लिए,आते बारंबार।। शब्द  दिवस  हैं...

मन की बात आपके साथ

आज प्रस्तुत है मन की बात आपके साथ ।न मँझी लेखिका हूँ न बनाबट से लिखती हूँ। नही आते छंद ।न दोहा ,चौपाई में...

तन की थकन को तुम I मन पर ना चढ़ने देना

तन की थकन को तुम मन पर ना चढ़ने देना छोटे छोटे ही सही मगर कुछ सपने संजो लेना मन की धूल हटाकर कभी सूरज को नीहारना दिखायेगा वह तुमको उम्मीद...

शीर्षक साहित्य परिषद् का राष्ट्रीय अधिवेशन II 2017

"शब्द श्री" द्वारा संचालित " शीर्षक साहित्य परिषद् का राष्ट्रीय अधिवेशन दिनांक 29-10-17 को भोपाल मध्य प्रदेश में सम्पन्न हुआ, जिसमे देश के विभिन्न...

शहीद भगतसिंह के सपनों का भारत आज भी है अधूरा

शहीद भगत सिंह के सपनों का भारत आज भी नहीं बन पाया है। भगतसिंह इस देश को न सिर्फ अंग्रेजों से मुक्त कराना चाहते...

Reformation-: Bhagat Singh’s Desire.

  “This is not the India that Bhagat Singh wanted. Though we got freedom, it was only for a few influential families. The common man...

भगत सिंह का भारत

उसे यह फ़िक्र है हरदम, नया तर्जे-जफ़ा क्या है? हमें यह शौक देखें, सितम की इंतहा क्या है? ये पंक्तियाँ किसी कवि, शायर या साहित्यकार के द्वारा नहीं...

LONG LIVE BHAGAT SINGH

Bhagat Singh also known as Shaheed Bhagat Singh (28 September 1907 – 23 March 1931) was an Indian socialist and a revolutionary. He is considered to be...

EDITOR PICKS