चुनाव से पहले सत्ता हासिल करने के लिए राजनीतिक दलों के नेता जनता से कई लोकलुभावन वादे करते हैं और सुनहरे सपने दिखाते है। ये बात अलग है कि नेताओं के वादे शायद हीं पुरे हो पाते हैं। बहरहाल, अब तक आपने नेताओं के कई चुनावी वायदे  सुने होंगे, लेकिन तमिलनाडु के DMK के एक विधायक ने लोगों से ऐसा वादा किया है, जिसे जान कर हर कोई हैरान है।

दरअसल तमिलनाडु के DMK विधायक और पूर्व टीएन मंत्री केएम नेहरू ने एलान किया है कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो बच्चों को खुलेआम नकल करने की इजाजत देंगे। टीएम नेहरू ने यह बात तमिलनाडु के छात्रों को NEET एग्जाम से अलग करने की मांग करते हुए कही। मंगलवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केएम नेहरू ने कहा, ‘अगर NEET में छूट पाने में हम नाकामयाब रहे तो निश्चित रूप से हमारी सरकार आने पर हम बच्चों को खुलेआम नकल करने की इजाजत देंगे। आप बिहार और मध्य प्रदेश में खुलेआम नकल होने देते हैं. क्यों? तमिल लोग ही कब तक ईमानदार बने रहेंगे?’

गौरतलब है कि पिछले काफी वक्त से तमिल छात्रों की मांग है कि वर्ष 2018 में होने वाली NEET परीक्षा से तमिलनाडु को बाहर रखा जाए। बता दें कि पिछले सत्र में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी करते हुए कहा था कि मेडिकल काउंसलिंग नीट के तहत ही कराई जाए। वहीं, इससे पहले तमिलनाडु विधानसभा में आदेश जारी कर तमिलनाडु को नीट परीक्षाओं से बाहर रखने की बात कही थी। तमिलनाडु सरकार के इस फैसले पर केंद्र सरकार ने मुहर लगाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *